शुक्रवार, अक्तूबर 07, 2005

उलटफेर जारी

ब्लॉग की दुनिया के उलटफेर जारी हैं। एओएल की वेब्लॉग्स ईंक की खरीद की खबर अभी बासी भी नहीं हुई कि अब वेरीसाईन ने डेव वाईनर के वेब्लॉग्स डॉट कॉम को खरीद लिया है। वेब्लॉग्स डॉट कॉम खासा प्रसिद्ध पिंग सर्विस है जो ताज़े ब्लॉग्स की खबर रखता रहा है और जिसे लगभग हर ब्लॉगवेयर नई प्रविष्टि करने पर पिंग करता है। वैसे वादा तो यही है कि यह मुफ्त सेवा आगे भी मुफ्त रहेगी।

इन सब के बीच बेहद हवा बनी रही पहले भारतीय ब्लॉग नेटवर्क इंस्टाब्लॉग, जिसमें कथित रूप से ५० चैनल है, यह दीगर बात है कि एक भी चैनल भारतीय पाठकवर्ग को ध्यान में रख नहीं बनाया गया। वैसे इंस्टाब्लॉग अपने कहे अनुसार ५ अक्टुबर को प्रारंभ नहीं हुआ और लोगों ने काफी हल्ला भी मचाया इस पर। अभी यहाँ तकरीबन ४६ चैलन ही अवतरित हुए हैं, कई खाली पड़े हैं और किसी भी प्रविष्टि के साथ लेखक का नाम नहीं है। खैर आगे आगे देखिये होता है क्या!

Post Comment

Post Comment

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative