बुधवार, अगस्त 01, 2007

नये फुरसतिया का जन्म

आज अक्षरग्राम में आलोक ने गणितीय गणना कर बताया है कि किस तरह हिन्दी चिट्ठे लगातार बढ़ रहे हैं. सक्रिय चिट्ठाकारों की संख्या में भी अच्छी खासी बढ़ोत्तरी हुई है. अभी तक न पढ़ा हो तो यहां से वहां तक का सफर हो सकता है. पाठकों की आवाजाही के बारे में जानना हो तो विपुल बता रहे हैं कि चिट्ठाजगत पर आवाजाही कैसे बढ़ी है.

दोनों ओर से अच्छे संकेत मिल रहे हैं. लेकिन यह खबर तो आप पढ़िये ही. मैं चर्चा किसी और कारण से कर रहा हूं. एक नये फुरसतिया का जन्म हुआ है. नहीं समझे? भइया/बहिनों वर्डप्रेस पर एक नया ब्लाग दिख रहा है. नाम है फुरसतिया. प्रथम दृष्टया ये कानपुरी फुरसतिया तो लगते नहीं. लेकिन हैं कौन अपनी पहचान भी नहीं छोड़ गये हैं. नये चिट्ठाकार हैं. इसलिए इस चर्चा में शामिल हो गये हैं. कुछ और नये चिट्ठाकार जो इस महीने में सक्रिय दिखें वे इस तरह हैं-
1. किश्तों की जिन्दगी
2. विनीत उत्पल
3. हिन्दी टीवी मीडिया
4. निस्मार्ग
5. सूर्य आत्मा
6. उम्दा सोच
7. आयुर्वेद
8. बेस्ट आफ हिन्दी

इसके अलावा भी बहुत से नये चिट्ठे बने हैं जैसा कि आलोक जी अपने विश्लेषण में बता रहे हैं. मैं तो मुश्किल से आठ-नौ ही खोज पाया. आपकी नजर में कोई आया हो तो अपनी टिप्पणी के साथ उसका नाम जोड़ सकते हैं.

Post Comment

Post Comment

4 टिप्‍पणियां:

  1. एक जो मेरी नजर में आया.

    http://swapnlok.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. संजय जी यह चिट्ठाजगत पर पाठकों की आवाजाही के आंकड़े नहीं, यह चिट्ठाजगत॰इन पर संग्रहित लेखों के आंकड़े हैं।
    http://chitthajagat.in/?sankhiyekee=dekho
    यहाँ आपको पता चलेगा
    मासिक आंकड़े - कितनी प्रविष्टियाँ संग्रहित करीं
    मासिक आंकड़े - कितने चिट्ठे बोले
    मासिक आंकड़े - कितने चिट्ठाकार बोले
    दैनिक आंकड़े - कितनी प्रविष्टियाँ संग्रहित करीं

    पाठकों की आवाजाही का इन से कोई लेना देना नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. KALJAYI SHEERSHAK MUJHE ACHHA LGA THA AUR AAPKA UDESHY BHI.LEKIN MAIN YHAN APNEY BLOGPAGE PAR ERROR REPORT KE SANDARBH MEIN MADAD KI TLASH MEIN BHATAK KAR AA GYA HOON

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपके सफल ब्लॉग के लिए साधुवाद!
    हिंदी भाषा-विद एवं साहित्य-साधकों का ब्लॉग में स्वागत है.....
    कृपया अपनी राय दर्ज कीजिए.....
    टिपण्णी/सदस्यता के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें....
    http://pgnaman.blogspot.com
    हरियाणवी बोली के साहित्य-साधक अपनी टिपण्णी/सदस्यता के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें....
    http://haryanaaurharyanavi.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative