मंगलवार, जुलाई 27, 2010

चर्चा में चंद एक लाईना

एक लाईना


  1. वर्धा में ब्लॉगर सम्मेलन की तिथि दुबारा नोट कीजिए…:और उनके बदले जाने का इंतजार करिये!

  2. आपके ब्लॉग का नाम क्या होना चाहिए :झकास.ब्लॉगस्पाट.काम

  3. जन्मदिन के किस्से..हैप्पी बर्थडे मोमेंट :):जाओ जाके धरती की शोभा बढ़ाओ अब

  4. जब तुम होगे साठ साल के............. घुघूती बासूती :होंगी पचपन की

  5. लड़कियां खुद देती है यौन संबंध बनाने के आफर :बेचारे कोच लोगों को उनके आफ़र स्वीकार करने पड़ते हैं

  6. मेरा मोहल्ला मोहब्बत वाला :मिश्रित संस्कृति वाला, हाथों में हाथ का ताला- झिंगालाला

  7. राजनीतिक स्वार्थ ........! :पूरे कीजिये।महंगाई का ब्रेकफास्ट,आश्वासनों का लंच कीजिये ,

  8. सौंदर्य जब शबाब पर होता है...तो वह इकतीस का होता है:पोस्ट लेखक की उम्र बावन वर्ष

  9. तो तुम याद आती हो.... :ये याद कमबख्त चीज़ ही ऐसी है :)

  10. हीरो या जीरो....? :एक्कै बात है।

  11. जीवन के ये 17 मूल आधार :मुफ़्त में पाइये

  12. ये पोस्ट bharat भारती की है क्रप्या इसे पढ़कर टिपण्णी ज़रूर दो :भगवान आपका भला करेगा

  13. अपनेब बच्चे,बच्चे और दूसरों के मुसीबत : होते तो अपने बच्चे भी मुसीबत ही हैं लेकिन कहें कैसे वे सुन लेंगे!

  14. ….जिंदगी का एक इतवार :मंगलवार तक पसरा है


  15. आया सावन झूम के ...
    :ठुमके लगाये घूम के

  16. ये मुंबई आमा हल्दी..............सतीश पंचम नाम लिखने लगे पोस्ट में ताकि लोग देखते ही बांचने लगें

  17. चप्‍पलें खूब खुश हैं (अविनाश वाचस्‍पति) :के हवाले से

  18. सावधान, आजकल ईमेल की हेकिंग हो रही है शुक्र है हम ईमेल नही हैं। वैसे परसों क्या बन्द हो जायेगी हैकिंग!

  19. एक डुबकी गंग धार में :कांवर के त्यौहार में


  20. नितीश जी के बिहार में बाढ़ नियंत्रण और आपदा प्रबंधन सिर्फ और सिर्फ भ्रष्टाचार का प्रबंधन करता है ....
    :कहां नहीं करता है?

  21. स की शमश्या!! : शे मुकाबला करिये!

Post Comment

Post Comment

24 टिप्‍पणियां:

  1. लाजवाब चर्चा- नहीं छूटा कोई पर्चा

    उत्तर देंहटाएं
  2. झिंगालाला ! क्या एकलाइना पोस्ट है. एकदम झकास !

    उत्तर देंहटाएं
  3. :D Mukti ji ke comments se[copy/paste] saabhaar-:
    झिंगालाला ! क्या एकलाइना पोस्ट है. एकदम झकास !
    :) :) :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह क्या एक लाइना है !!! अच्छी चर्चा !
    अपनेब बच्चे नहीं .....अपने बच्चे ..........

    उत्तर देंहटाएं
  5. बढ़िया है ...
    वैसे जेब के कागज़ और मोबाइल पन्नी में रख , झमाझम वारिश में थोडा भीग लोगे तो मूड चकाचक हो जायेगा गुरु !

    उत्तर देंहटाएं
  6. पोस्ट शामिल करने का शुक्रिया ...
    चर्चा बढ़िया है !

    उत्तर देंहटाएं

  7. बड़ा उदास सा नीरस शीर्षक है जी, किसी मॉडरेटर से बोल कर निष्पक्षता से इसे ठीक करवाइये जी,
    इसे होना तो यह चाहिये था..
    सावन का महीना... पवन करे सोर के बीच खालिस तीखा फुरसतिया अँदाज़.... चर्चा में चंद एक लाईना... असली अनूप शुक्ल... कानपुर से 21 पोस्टों पर नज़र !


    बुरा न मानियो, पँचम भईया.. हम्मैं तो पटको एक किनारे.. इससे पाठक को खास करके शीर्षक से मज़मून भाँप कर टिप्पणी करने वालों को बहुत सुभीता रहती है ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुन्दर चर्चा. बधाई.
    अच्छे लिंक्स! आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुन्दर च मनभावन चर्चा.....
    धन्यवाद जी!

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह क्या एक लाइना है !!! अच्छी चर्चा !

    उत्तर देंहटाएं
  11. जेई लिये तो गुरू जी कहता हूं । गुरू पूर्णिमा पर सलामी नहीं दागी उसके लिये माफी ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत सुन्दर चर्चा की पंडित जी .... चर्चा में पोस्ट को सम्मिलित करने के लिए आभारी हूँ ....

    उत्तर देंहटाएं
  13. टिप्पणी में एक लाइना.
    चर्चा अच्छी है :)

    उत्तर देंहटाएं
  14. आप की इस एक लाइना चर्चा की लहरों में ब्लॉग जगत की हलचल साफ-साफ़ देखी जा सकती हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  15. अरे मनोज बिटवा ई लहर तो इस अनूपवा ने कब की खत्म करदी है. अब का बचा है? ई चार लाईन की चर्चा करके काहे लहर उठावत हो? अऊर आजकल तुमने चर्चा नाही की? का बात है? तबियत तो ठीक बा?

    उत्तर देंहटाएं
  16. संक्षिप्त तरीके से की गई बेहतरीन चर्चा

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत दिन बाद लौटा हूं और आते ही मेरी पसंदीदा एकलाइना


    वाह क्‍या बात है...

    उत्तर देंहटाएं
  18. शुक्रिया सर, मेरे पोस्ट को इस चर्चा में शामिल करने के लिए...बाकी के कुछ लिंक्स तो पढ़े हुए थे, फिर से पढ़ लिए :)

    उत्तर देंहटाएं
  19. इसे कहते है भिगो-भिगो के मारना...

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative