शुक्रवार, जनवरी 29, 2010

एक शब्दमेघ चर्चा: वाशिंग्‍टन पोस्‍ट इश्‍टाईल

आज के हिन्‍दुस्‍तान टाईम्‍स में (दरअसल पूरी स्‍टोरी वाशिंगटन पोस्‍ट से उधारी ली गई है) अमरीकी संसद में ओबामा की स्‍पीच का विश्‍लेषण करने के लिए शानदार तकनीक अपनाई है। ओबामा की स्‍पीच का वर्ड क्‍लाउड बनाया गया यानि कीवर्ड्स का उनके भाषण में कितनी बार इस्‍तेमाल हुआ है के आधार पर उनका आकार तय करते हुए पूरी स्‍पीच का क्‍लाउड(बादलनुमा एक आकृति) बनाया गया इससे उनकी चिंताओं व सरोकारों का खाका दृश्‍य में प्राप्‍त हो गया। बाद में इसकी तुलना उनके पिछले भाषणों और पिछले राष्‍ट्रपतियों के भाषण से भी की गई है। इस लिहाज से देखें तरीका लाजबाव है.. आखिर हम अपनी बात शब्‍दों में ही तो कहते हैं अत: शब्‍द सघनता हमारे सरोकारों को व्‍यक्त करती ही है। वैसे तकनीक का इस्‍तेमाल हम ब्‍लॉगर अरसे से करते आ रहे हैं... टैग क्‍लाउड, वर्ड क्‍लाउड इसी तकनीक के उदाहरण हैं। हमने आज चर्चा के लिए इसी तकनीक का इस्तेमाल करने जा रहे हैं। आज की पोस्‍टों के शब्‍दमेघ यानि वर्ड क्‍लाउड सामने रख रहे हैं ताकि आपको पता चल जाए कि पोस्‍ट में शब्‍द सघनता किस ओर है इससे ये अनुमान आपको सहज ही हो जाएगा कि पोस्‍ट लेखक के मन पर फिलहाल क्‍या हावी था :)

ScreenHunter_19 Jan. 29 15.15

  सबसे पहले तो देखें कि कुल मिलाकर हिन्‍दी ब्‍लॉगजगत के दिमाग में आज कया चल रहा है यानि खुद ब्‍लॉगवाणी मुखपृष्‍ठ का शब्‍दमेघ । ये चलने पर इतना बलाघात क्‍यों यारो ? गनीमत है पुस्‍तक भी कुछ बड़ा है :) आगे के शब्दमेघ किन पोस्‍टों के हैं ये जानना मनोरंजक खेल हो कता है, मसलन ये मेघ देखें

ScreenHunter_05 Jan. 29 10.03

और अनुमान लगाऍं। क्‍या आप जानना नही चाहेंगे कि किसके पोस्‍ट-व्‍यक्तित्‍व के केंद्र में अपन/पोस्‍ट/ जानकार है :)   अनुमान लगाइए और फिर मेघ पर क्लिक कर देखें कि आपका उत्‍तर ठीक था कि नहीं, इसी बहाने आपको उनकी पोस्‍ट का केंद्रीय विचार तो हाथ लग ही गया- अपन। तो इसी खेल को नीचे के सभी रंग बिरंगे शब्‍द-मेघों के साथ खेलें, हर छवि पर संबंधित पोस्‍ट का लिंक दे दिया गया है- 

 

ScreenHunter_04 Jan. 29 09.44

 

ScreenHunter_06 Jan. 29 14.01

 

ScreenHunter_07 Jan. 29 14.04

ScreenHunter_08 Jan. 29 14.07

 

ScreenHunter_09 Jan. 29 14.08

 

ScreenHunter_10 Jan. 29 14.10

 

ScreenHunter_11 Jan. 29 14.30

 

ScreenHunter_12 Jan. 29 14.33

 

ScreenHunter_13 Jan. 29 14.35

 

ScreenHunter_14 Jan. 29 14.37

 

ScreenHunter_15 Jan. 29 14.39

 

ScreenHunter_16 Jan. 29 14.41

 

ScreenHunter_17 Jan. 29 14.43

 

ScreenHunter_18 Jan. 29 14.45

 

ScreenHunter_20 Jan. 29 15.19

 

प्रयुक्‍त औजार: वर्डल  (पोस्‍ट विशेष के यूआरएल भरने पर शब्‍दमेघ तैयार होते हैं फिर उसे मनचाहे आकार की छवि में लेने के लिए मैंनें स्‍क्रीन कैप्‍चर का शार्टकट अपनाया है, लिंक देने का काम मैन्‍युअली किया गया है)

Post Comment

Post Comment

33 टिप्‍पणियां:

  1. ओह सिम्पली सुपर्व! क्या खुराफ़ाती आइडिये हैं भैये। हम गलत नहीं कहते रहे कि मसिजीवी बाई डिफ़ाल्ट खुराफ़ाती ब्लॉगर हैं।
    मन खुश हो गया इस नये प्रयोग को देखकर। अब देखते हैं ई बना कैसे?

    उत्तर देंहटाएं
  2. सरजी,आप कहां मसटरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना। पीएचडी लिखने के वखत कुछ कामों के लिए आप ही को पकड़ेंगे।..

    उत्तर देंहटाएं
  3. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।

    (विनीत कुमार से साभार.)

    उत्तर देंहटाएं
  4. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।

    (Shiv Kumar Mishra से साभार.)

    उत्तर देंहटाएं
  5. इम्‍प्रेसिव. दीस ग्राफ़ि‍क डूडलर इज़ इम्‍प्रैस्‍ड.

    उत्तर देंहटाएं

  6. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।

    (Ashish Shrivastava से साभार.)

    उत्तर देंहटाएं
  7. yae sahii nahin ho rahaa haen saabhar likhnae sae nahin chaelgaa , sabko apna apna likhna hogaa !!!!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।

    (डा० अमर कुमार से साभार.)

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी पिछली पोस्ट का आइडिया भी बहुत अच्छा लगा और इसका भी। बहुत बढ़िया।

    उत्तर देंहटाएं
  10. TOOOOO GOOOOD !!!

    हम आपको खुराफ़ाती दिमागवाला हरगिज नहीं कहेंगे...
    यह बहुत ही संयमित तरीका लगा आपका ...बहुत बहुत बहुत पसंद आया..
    और हम सच कह रहे हैं...
    धन्यवाद ..

    उत्तर देंहटाएं
  11. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  12. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।
    (अर्कजेश से साभार)

    उत्तर देंहटाएं
  13. सब लोग विनीत कुमार की बात दोहरा रहे हैं ! मजेदार!

    उत्तर देंहटाएं
  14. ये सही नहीं हो रहा है... साभार लिखने से काम नहीं चलेगा। सबको अपना अपना लिखना होगा !!!!!!!

    (रचना जी से साभार)

    उत्तर देंहटाएं
  15. सब लोग विनीत कुमार की बात दोहरा रहे हैं ! मजेदार!

    (अनूप शुक्ल जी से साभार)

    उत्तर देंहटाएं
  16. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।
    (ये मैंने स्वयं कुंजीपट पर टाइप कर लिखा है, किसी से साभार नहीं लिया है, कसम से!)

    उत्तर देंहटाएं
  17. सरजीमास्टरी कूट सिर मीडिया हाउस
    प्रोमोशन कंपनी तहलका
    खैरहुनर नमूना

    उत्तर देंहटाएं
  18. jabardast!!

    kaahe kisi se saabhar le ke apni baat kahein saaheb ji, baaki je baat hai ki boss, aap to jaao kisi media company me,hilaa k rakh doge baaki sabko. no doubt jee ;)

    majaa aa gaya ekdam new style dekh ke

    उत्तर देंहटाएं
  19. सरजी,आप कहां मास्टरी में सिर कूट रहे हो। मैं तो कहता हूं आप किसी भी मीडिया हाउस या प्रोमोशन कंपनी में तहलका मचा दोगे। खैर,परोसते जाओ अपने हुनर का नमूना।


    ये ऑरीजिनल वाला है मैंने संभालकर रख रखा था्...

    बाकी ज्‍यादातर ने कॉपी किया है...

    उत्तर देंहटाएं
  20. आप सिर कूट में मास्टरी का प्रमोशन पा तहलका मचा रहे हो।
    पीएचडी लिखने के वखत अपने हुनर का नमूना परोसते जाओ
    खैर, कुछ नमूना सिर कूट के लिए आप ही को पकड़ेंगे।

    विनीत हो कुछ कामों के लिए आभार कहता हूं

    उत्तर देंहटाएं
  21. ओह!
    लगता है कॉपी-पेस्ट करते ही वर्ड क्लाऊड बन गया :-)

    जाने भी दो यारों

    उत्तर देंहटाएं
  22. यह पता चला कि मास्टरी में सिर कुट जाता है। :-)

    उत्तर देंहटाएं
  23. मौलिक सोच... मुझे भाया यह तरीका. जारी रखें.

    उत्तर देंहटाएं
  24. भाई हमारे तो सिर के ऊपर से गुजर गया। कमजोर छात्रों की कक्षा में हमारा भी नाम दर्ज करवा दीजिएगा।
    आभार।
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  25. सरजी,आपलोग तो देखते ही देखते सबके सब हिन्दी विभाग के विद्यार्थियों में कन्वर्ट हो गए।...

    उत्तर देंहटाएं
  26. इम्‍प्रेसिव. दीस ग्राफ़ि‍क डूडलर इज़ इम्‍प्रैस्‍ड.

    (अंग्रेजी आती नहीं अतः प्रभावित करने के लिए प्रमोड सिंघ से लेकर चस्पाया है) :)

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative