रविवार, जनवरी 31, 2010

सचमुच, काम के ब्लॉग

अभी तो अक्खा हिन्डी ब्लॉग जगत् ब्लॉग ब्लॉगर ब्लॉगेस्ट खेल रही है. ब्लॉगर-ब्लॉगवाणी-चिट्ठाजगत् जिन्दाबाद! तो इनमें काम का ब्लॉग ढूंढे से कहीं मिलेगा? आप कहेंगे, समुद्र में मोती तो बहुत पड़े हैं ढूंढने वाला चाहिए. चलिए एक कोशिश कर देखते हैं. पर मामला तो भूसे के ढेर में सुई ढूंढने जैसा लग रहा है!

यूरेका! एक ब्लॉग मिल गया. मिक्स बैग वाला. भई इसमें हिन्दी में दो-चार पोस्टें हैं तो हम इसे आंशिक हिन्दी वाला तो मान ही लेते हैं. ब्लॉग का नाम है – सिटिजन एसबीआई http://citizensbi.blogspot.com/

. वैसे तो यह भारत की सबसे बड़ी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का कुछ कुछ आधिकारिक किस्म का ब्लॉग प्रतीत होता है, मगर यहाँ ऐसा कोई दावा नहीं किया गया है, बल्कि सिटिजनशिप की महत्ता और स्टेट बैंक में वर्क कल्चर को डेवलप करने संबंधी बहुत सी प्रेरक घटनाओं को यहां संजोया गया है.

इस ब्लॉग के एक पोस्ट – सुपर सिटिजन में एक ऐसी ही प्रेरक कहानी को पढ़कर मेरे भीतर का अपना सिटिजन जागा, और मैंने दन्न से एक कमेंट वहाँ दागा.

आप जानते हैं क्या हुआ? कमेंट तो प्रकाशित नहीं हुआ, अलबत्ता सुखद आश्चर्य स्वरूप स्टेट बैंक से एक उत्तर जरूर प्राप्त हुआ. (हालांकि यह मेरे मेल बक्से में मिला है, मगर मामला चूंकि ब्लॉग पर टिप्पणी का था, और संभवत: विषय-वस्तु से मेल नहीं खाती टिप्पणी को प्रकाशित भले न किया गया हो, मगर उसे यहाँ, सार्वजनिक प्रकाशित करने में स्टेट बैंक को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए. यदि उन्हें समस्या होती है तो इसे यहाँ से सखेद हटा लिया जाएगा) प्रश्नोत्तरी आप भी बांचें:

Dear Mr  Ravi,
The two old ATMs are being replaced by a set of six new ATMs this week. Sorry for the inconvenience caused to you. Regards,
J S Bisht, AGM, SBLC, Indore.


Date: Tue, 26 Jan 2010 20:18:48 -0800
From: ra*****i@gmail.com
To: co*****ht@hotmail.com
Subject: [Citizen SBI] New comment on
सुपर सिटिज़न.
Raviratlami has left a new comment on your post "सुपर सिटिज़न":
आदरणीय,
मैँ भी एक सिटिजन हूं, एसबीआई खाताधारक. यहाँ भोपाल के न्यूमार्केट में स्टेटबैंक के दो एटीएम महीनों से बंद पड़े हैं. उनके दरवाजे पर लिखा है कि तकनीकी खराबी के कारण बंद हैं. तो क्या स्टेट बैंक के पास इन दो एटीएम मशीनों की तकनीकी खराबी को तत्काल दूर करने के लिए कोई संसाधन नहीं है? हद है!
इसी कारण दूसरे एटीएम मशीन पर बेहद भीड़ लगी रहती है. कृपया इन दो मशीनों को जल्द से जल्द ठीक करवाएँ.
Publish this comment.
Reject this comment.
Moderate comments for this blog.

Posted by Raviratlami to Citizen SBI at January 27, 2010 9:48 AM

चलिए, हमारा एक छोटा सा काम तो हो गया. इस प्रकरण के तुरंत बाद न्यूमार्केट एटीएम मशीन स्थल पर कार्य में जरा तेजी आई है और रात-बेरात भी वहां काम हो रहे हैं. जैसा कि बताया गया है, उम्मीद है कि इस सप्ताह हम नए मशीन में हाथ साफ कर सकेंगे. काश कि ऐसे काम के ब्लॉग और भी तमाम सरकारी-गैर सरकारी एजेंसियों के होते जिसमें जानकारियों से लोग-बाग अपडेट भी होते और लोग-बाग अपनी समस्याओं का समाधान भी टिप्पणियों के थ्रेड के जरिए प्राप्त कर सकते.

--

चलते चलते,

अठन्नी अठन्नी से गुल्लक में दस करोड़ कैसे जोड़ लिए, ये कहानी :

http://myindiamycause.wordpress.com/2010/01/29/अठन्नी-अठन्नी-से-दस-करोड़/

यहीं पर एक कहानी और है – छठी पास बन गया इंजीनियर

इधर आपकी नजरों से भी काम के कुछ पोस्ट तो गुजरे होंगे? तो उन्हें साझा कीजिए! दुनिया सचमुच काम के ब्लॉगों, ब्लॉग पोस्टों को ढूंढ रही है.

Post Comment

Post Comment

16 टिप्‍पणियां:

  1. रवि जी, आप की चेतना को नमन। ऐसे प्रयास मैं करता रहता हूँ लेकिन बस अपने लिए। अब कुछ मिलेगा तो साझा किया करूँगा।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ढूंढने पर ही इस तरह की खबरें और पोस्टें मिल पाती हैं। सार्थक खबरें अब तो जैसे कहीं बिला गई हैं।

    उत्तर देंहटाएं

  3. यह साइट स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया के MMS Grade 2 और इससे ऊपर के अफ़सरान का अपना मँच है ।
    इस पर आनन्द-स्वरूप श्रीवास्तव ने कुछ अच्छी रचनाये भी दी हैं !
    ( स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया = भारतीय स्टेट बैंक .... इसमें आँग्लभाषा के दोनों ही शब्द स्टेट और बैंक के विकल्प को तलाशने की कभी कोई पहल हुई है ? यदि जानकारी हो तो बतायें । हिन्गलिश के पड़ोस का यह कैसा हिन्दीकरण है ? )

    उत्तर देंहटाएं
  4. ब्लाग टिप्पणी के जवाब में, स्टेट बैंक का यूं कार्य करना सराहनीय है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. यह काम है चर्चा का ! बेहतरीन लिंक दिये आपने । आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. यह माई इण्डिया माई कॉज़ वाला लिंक बढ़िया लगा।

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative