शनिवार, जुलाई 18, 2009

शनीचरी एक लाईना


रामप्यारी

एक लाईना


  1. रामप्यारी मैम की इंगलिश क्लास :
  2. में A फ़ार ऐश्वर्या आंटी..
  3. क्या ब्लॉग साहित्य है ? - मेरी हाजिरी : को ही साहित्य समझा जाये

  4. यंत्रणा और आत्मद्वंद्व के अंधेरे दिन :भी गुजर जायेंगे

  5. उदयप्रकाश का सफाईनामा और संसद में रोना आदित्यनाथ का : मौज लेने के नये बहाने

  6. हिन्दी ब्लोगिंग की परिभाषा : मसखरों का कुश्ती दंगल और अखाड़ा- एक सक्रिय ब्लागर का खुलासा

  7. मेरा शहर मरा नही है : बस जरा वेंटीलेटर पर है

  8. प्लीज ,कोई मुझे तफसील से समझायेगा कि यह पुरूष मानसिकता क्या होती है ? :ईजी लो भाई -समझ में आ जायेगा

  9. नारी का सम्मान, सामाजिक मूल्य और TRP के भूखे भेड़िये : को पाने के लिये स्टार प्लस खोलें

  10. इत्ते सारे..बाप रे!! : तेरे को कित्ते चाहिये रे?

  11. सच है तो क्या नंगे होकर घूमा जाए? : क्या फ़ायदा -सब कपड़े बेकार जायेंगे

  12. कन्वेयर बेल्ट पर उगता अपनी माटी का सोना... : खूबसूरत लगता है

  13. नेकी कर और गाली सुन : गाली सुनने के लिये भी नेकी करनी पड़ेगी? क्या जमाना आ गया है!!

  14. लड़कियां छेड़ना एक खूबसूरत रिवाज़ है.... : सच में! विश्वास नहीं होता!!

  15. सच का सामना: कहीं यह गेम शो हमें डरा न दे:फ़्री फ़ण्ड में मरा न दे

  16. ब्लोगों को पढने का ठेका उठाया है, चिट्ठों की चर्चा का , कुरियर फिर आया है.:हम भी कम नहीं हैं -बिना टिपियाये इसे छुड़ाया है


और अंत में


फ़िलहाल इतना ही। हफ़्ते मे अंत में मौज से रहें, मस्ती करें भले ही डिस्क्लेमर लगाकर!

Post Comment

Post Comment

15 टिप्‍पणियां:

  1. एक लाइना---नारी का सम्मान, सामाजिक मूल्य और TRP के भूखे भेड़िये : लड़कियां छेड़ना एक खूबसूरत रिवाज़ है.... :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक एक लाईनों में एक एक हज़ार शब्दों का चार्म

    उत्तर देंहटाएं
  3. लेकिन एक लाईन मे पेट नही भरा।इसे नाश्ता मान लेते है दोपहर या रात को भिजन मिल जाये तो अच्छा है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच्ची पेट इर्रर दिमाग नहीं भरा !

    उत्तर देंहटाएं
  5. जय हो शनिचर महाराज की. :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. शनीवार की छुट्टी में सुस्ताती सी चिट्ठाचर्चा अच्छी लगी.

    उत्तर देंहटाएं
  7. 10 जुलाई के बाद से चिट्ठाचर्चा फ़ीड में नहीं दिख रही है....

    उत्तर देंहटाएं
  8. संक्षिप्ततः बात तो हो ही गयी - चिट्ठाचर्चा के प्रति ईमानदारी का इत्मिनान भी हो गया ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. चर्चा और संक्षिप्त? विरोधाभास है :-)

    उत्तर देंहटाएं
  10. काजल जी
    फीड पर बेनामियों ने
    कब्‍जा जमा लिया लगता है

    उत्तर देंहटाएं
  11. फ़िलहाल इतना ही।

    हमने सोचा और सामान पीछे आ रहा है .

    यह तो सही नहीं किया जी आपने !

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative