शुक्रवार, फ़रवरी 02, 2007

शुक्रवारी प्रश्न माला

प्रश्न : विंडोज विस्टा के बारे में क्या जानते हैं?
उत्तर : लगता है आपने आईना नहीं देखा।

प्रश्न : लालूजी आजकल क्या कर रहें है?
उत्तर : लालूजी आजकल मौज-मस्ती के तरिके इजाद कर रहें है। नये साल का जश्न मनाये हुए एक माह बीत चुका है, नये जश्न का बहाना चाहिये तो लालू भक्त बनकर भारतीय रेल में मौज मस्ती करने का सुनहरा अवसर है, इसके पक्ष में मनिषाजी का कहना है -


भारतीय रेल के उपक्रम भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी IRCTC) ने भारत के विभिन्न भागों के पर्यटन स्थलों के लिये पैकेज टूर आयोजित करने की घोषणा की है। इन पैकेजों में भारतीय रेल विभाग यात्रियों के आने-जाने, खाने, रहने और घूमने की व्यवस्था करेगा।

प्रश्न : मौहल्ले में क्या हो रहा है?
उत्तर : प्रमोद सिंह जी लम्बा-चौड़ा भाषण दे रहें है और उमाशंकर सिंह जी अपनी डायरी लेकर आयेंगे इसका अग्रिम प्रचार हो रहा है।

प्रश्न : भारत से अमेरिका पहुँचने में कितना समय लगेगा?
उत्तर : मात्र 45 मिनट

प्रश्न : कहानी बम-विस्फोट के रचियता कौन है?
उत्तर : संजीव पालीवाल।

प्रश्न : वाई-फाई क्या है? विस्तार से समझाओ।
उत्तर : वाई फाई (वायरलेस फिडेलिटि) एक वायरलेस नेटवर्किंग सुविधा है, इसका एक सीमित क्षेत्र होता है जिसमें हम अपना पीसी या लेपटॉप बिना इंटरनेट केबल कनेक्शन के नेट से जोड़ सकते हैं. जैसे एयरपोर्ट पर अपना लेपटॉप ऑन करते है तो नेट से लेपटॉप पीसी अपने आप कनेक्ट हो जाता है इसमें बिना किसी इंटरनेट केबल के आप नेट से कनेक्ट होकर ईमेल, चेटिंग तथा सर्फिंग कर सकते है। विस्तार से जानने के लिए यहाँ चटका लगायें।

प्रश्न : संगीत सुनने के लिए क्या करना चाहिए?
उत्तर : एक शाम मेरे नाम

प्रश्न : वेरोनिकाजी ने किसे और क्यों पत्र लिखा?
उत्तर : यह जानकारी “जो कह ना सके” पर दीपकजी दे चुके है, खालीपीली टाईम खोटी मत करो।

प्रश्न : भारत में आन्दोलन के लिए कौन तैयार है?
उत्तर : छात्र

प्रश्न : यादों के दीपक कहाँ जले हैं?
उत्तर : गीतकलश में।

प्रश्न : आदित्य तिवारी किसको देखकर काव्य रच रहें है?
उत्तर : चुलबुली लड़की को।

प्रश्न : सबसे ज्यादा सवाल कौन पुछता है? उनके बारे में संक्षिप्त में बताओ।
उत्तर : लाल पुछक्कड़ चाचा। वो लम्बी छुट्टियाँ बिताने के बाद फिर से हाज़िर हैं। वो निकले थे दुनियाँ की सैर पर. बहुत सारे देश देखे, बहुत सारे लोगों से मिले. अमीरों से मिले, ग़रीबों से मिले, फ़कीरों से मिले, लकीरों के फ़कीरों से मिले. बड़े से बड़े भिखारी देखे, पैसों के पीछे पागल शिकारी देखे, रोटी को तरसते लोग देखे, पंचतारा होटलों के भोग देखे. टॉमी को मखमल के गद्दे में सोते देखा, हरिया को कड़ाके की सर्दी में रोते देखा.... अब उन्होनें और क्या-क्या देखा यहा आप उन्हीं से पुछियेगा, इससे पहले की वो सवाल पुछ बैठे।

प्रश्न : उत्सव मनाना और खोजना, दोनो अलग-अलग प्रक्रिया हैं या सेम?
उत्तर : हमारी तो समझ में नहीं आया। आपकी समझ में आये तो हमें भी बतलायें। पंडितजी मंत्रोचार में व्यस्त हैं, ऑरकुट का जन्मदिन मना रहे हैं और उसमें डूब-डूबकर अपने डूबे हुए मित्रों (लंगौट वाले) को उबारने का प्रयत्न कर रहे हैं, आप खुद देखिये, क्या-क्या नहीं कर रहे है? –

आज ऑरकुट पर गया तो पता चला कि ३० जनवरी को ऑरकुट का तीसरा जन्मदिन था। ऑरकुट भी अधिकतर गूगल सेवाओं की तरह गूगलदेव का दत्तक-पुत्र है। यह काफी पहले की बात है जब ऑरकुट ज्वाइन किया था। सोशल-नेटवर्किंग शब्द अक्सर सुनता तो था पर जानता न था कि क्या बला होती है। उन दिनों ऑरकुट ज्वाइन करने के लिए इन्विटेशन की जरुरत होती थी। तो एक बार एक इंग्लिश ब्लॉग पर Ryan Wagner महोदय हर टिप्पणीकर्ता को इन्विटेशन भेज रहे थे। मैंने भी एक टिप्पणी की और भूल गया। कुछ समय बाद उनकी इन्विटेशन आई तो ज्वाइन कर लिया और उनका धन्यवाद कर दिया, अपने ब्लॉग के About पेज पर उसका बैज लगा दिया। ऑरकुट पर गया तो कुछ खास समझ न आया कि चक्कर क्या है। मुझे लगा ये भी उन बकवास डेटिंग साइटों जैसी ही चीज है। दुबारा उधर कभी गया ही नहीं।
प्रश्न : आज के जुगाड़ क्या है? घुमा-फिरा कर समझाओ।
उत्तर : कभी पिछे के दरवाजे-खिड़कियों में छेद कर भागने की कोशिश में फंस जाने वाले ताऊ श्रीमान जीतु जुगाड़ी आज दो-दो नोटबुक और पसंदीदा फिल्मों को सजाने के लिए अलमारी लेकर आये हैं, पता नहीं अब इस उम्र में का-का पढ़ेगे। भोलारामजी का जैसा नाम है उसके ठीक विपरित काम, ऐसे-ऐसे जुगाड़ लाये जा रहें है कि बस आप देखते जाओ। आपके चिट्ठे पर कौन आया, कौन गया? सबकुछ देखिये, क्लॉज सर्किट कैमरे से। कैसे? यह तो भोलाराम मीणाजी ही बतायेंगे की गुगल का कमाल क्या है?

प्रश्न : एक तारा कितना विशाल हो सकता है ?
उत्तर : खुले तारासमुह पिसमीस २४ मे एक तारे के बारे मे अनुमान है कि वह सूर्य से २०० गुना बडा हो सकता है जो कि एक रिकार्ड है। यह अनुमान उसकी पृथ्वी से दूरी, चमक और मानक सौर माडलो पर आधारीत है। मगर तारा तो इससे भी बड़ा हो सकता है, आप तो सौरमण्डल के बारे में जानकारी लेते रहें अंतरिक्ष से।

प्रश्न : जिहाद क्या है? अरबी शब्द “ जिहाद” का अर्थ क्या है ?
उत्तर : इसका एक उत्तर पिछले सप्ताह मिला जब सद्दाम हुसैन ने अपने इस्लामी नेताओं से कहा कि वे समस्त विश्व के मुसलमानों से अपील करें कि वे “ दुष्ट अमेरिका ” के विरुद्ध जिहाद में भाग लें .बाद में सद्दाम हुसैन ने स्वयं अमेरिका के विरुद्ध जिहाद की धमकी दी .इससे ध्वनित होता है कि जिहाद एक “पवित्र युद्ध ”है . इससे भी अधिक स्पष्ट शब्दों में कहें तो इसका अर्थ गैर – मुसलमानों द्वारा शासित राज्य क्षेत्र की कीमत पर मुसलिम राज्य क्षेत्र का विस्तार करने का कानूनी , अनिवार्य और सांप्रदायिक प्रयास है . दूसरे शब्दों में जिहाद का उद्देश्य आज इस्लामिक आस्था का विस्तार नहीं वरन संप्रभु मुस्लिम सत्ता का विस्तार है (संप्रभुता के विस्तार से आस्था का विस्तार स्वाभाविक रुप से होगा ) इस प्रकार जिहाद नि:संकोच भाव से आक्रामक स्वरुप का है जिसका उद्देश्य संपूर्ण पृथ्वी पर मुस्लिम आधिपत्य की स्थापना है

प्रश्न : MLM क्या है? इसके क्या-क्या फायदे-नुकसान हैं?
उत्तर : जब से हमारे देश की आबादी ज्यादा ही बढ़ी है, तब से पता नही् क्यों विदेशों कि तरह ही हमारे भारत में भी Multi Lavel Marketing कपंनीयों कि बाढ़ सी आ गई है । ये नेटवर्क कंपनीयां मेम्बरशिप व चेन बनाकर व्यवसाय करने के नाम पर अपने उत्पाद काफी आसानी से बेच रही है । क्या होता है कि मान लो किसी व्यक्ती को कुछ सामान की जरुरत नहीं है अब कम्पनी उसको वो सामान कैसे बेचे । तो ये MLM वाले छोटे से छोटे कस्बे व गांव तक भी पहुंच जाते हैं फिर हवाई किले बनाए जाते हैं ईनकि सेमिनारों मे। शहर में तो कई लोग भागते हें, कि कोई मिलने वाला या रिश्तेदार किसी स्कीम में मेम्बर बनाने नहीं आ जाए ।

प्रश्न : भाग्य क्या है? एक उदाहरण देकर समझाओ।
उत्तर : किस्मत को ही भाग्य कहते हैं। यह कभी भी बदल सकता है, उदाहरणार्थ - बुढ़ापे में जहां लोग मोह-माया से दूर भागते हैं, वहीं, रायटर की एक खबर के अनुसार एक 84 वर्षीय अमेरिकी की 25.4 करोड़ डालर(करीबन 11.4 अरब रुपए) की लाटरी लग गई है। ये जैकपाट इस बुजुर्ग के लिए मुश्किल बन गया है, उन्हें यह समझ नहीं आ रहा कि इतनी बड़ी रकम का इस्तेमाल कहां किया जाए। ताउम्र मध्यमवर्गीय जीवन बिताने के कारण शिकागो के मिसौरी निवासी जेम्स विल्सन इतनी अधिक रकम पाकर स्वयं चकित हैं। स्थानीय अधिकारियों के अनुसार द्वितीय विश्व युद्ध के सेनानी रहे विल्सन को गत 24 जनवरी को पावरबाल लाटरी का विजेता घोषित किया गया। विल्सन ने महज पांच डालर में लाटरी का टिकट खरीदा और थोड़ी ही देर में कंप्यूटर के जरिये निकाले गए ड्रा में उनका नंबर लग गया। पत्नी और तीन बेटों के साथ रह रहे विल्सन पिछले कई साल से लाटरी के टिकट नियमित रूप से ले रहे हैं, लेकिन उनकी किस्मत इतनी तेजी से बदलेगी यह उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था। विल्सन को अब वकील की सेवाएं लेनी पड़ रही हैं।

प्रश्न : “महात्मा गाँधी के सत्याग्रह प्रयोग की शताब्दी के अवसर पर कांग्रेस पार्टी ने एक अन्तर्राष्ट्रीय समारोह आयोजित किया और वर्तमान वैश्विक परिस्थितियों में सत्याग्रह की प्रासंगिकता पर चर्चा की” इस पर अपने विचार कम से कम सौ शब्दों में प्रकट कीजिये।
उत्तर : जी इसके लिए आपको लोकमंच पर चढ़कर प्रश्न दूबारा पूछना होगा।

प्रश्न : सचिन पर अंगुली उठाने से पहले क्यों सोचना चाहिए?
उत्तर : ताकि बाद में राजनीति और समसामयिक विषयों के अलावा क्रिकेट पर बेबाक अंदाज़ में लिखने वाले प्रभाष जोशी जी से खरी-खरी ना सुननी पड़े।

प्रश्न : लोकमंच नया क्या कर रहा है?
उत्तर : लोकमंच की ओर से आध्यात्म धारा नामक एक नया स्तम्भ आरम्भ किया जा रहा है। इस स्तम्भ में कुछ गूढ़ आध्यात्मिक प्रश्नों पर दार्शनिकों के विचार प्रस्तुत किये जायेंगे। इस श्रृंखला में सर्वप्रथम स्वामी विवेकानन्द के कुछ प्रमुख विचार प्रस्तुत हुए हैं। वर्तमान श्रृखला में स्वामी जी द्वारा हिन्दू दार्शनिक चिन्तन के सोपानों के क्रमिक विकास का विवरण है। यह विषय अनेक अंकों में पूर्ण होगा।

प्रश्न : बिना पिये भी नशा हो सकता है?
उत्तर : जी हाँ जरूर हो सकता है, तरिका यहाँ बतलाया गया है।

प्रश्न : भारत-यात्रा में आज क्या ख़ास है?
उत्तर : लेंसडौन गढवाल : पौड़ी से ८१ किलोमीटर दूर, अंग्रेजो द्वारा १८८७ में बसाया गया एक छोटा सा पर्वतीय स्थल।

प्रश्न : आज का चित्र कहाँ है?
उत्तर : यहाँ देखे।

Post Comment

Post Comment

8 टिप्‍पणियां:

  1. अनूप शुक्लाफ़रवरी 02, 2007 12:35 pm

    बहुत खूबसूरत! गिरिराज जोशी नित नये तरीके अपना रहे हैं चर्चा के लिये। वाह! लेकिन भाई फोटो तो यहीं होनी चाहिये!

    उत्तर देंहटाएं
  2. आप स्वस्थ हो लौट आएं है, देख कर प्रसन्नता हुई.

    उत्तर देंहटाएं
  3. भई वाह!
    चर्चा तो बहुत जोरदार किए,
    आपको इस शुक्रवारी इम्तिहान मे वरीयता से 'पास' घोषित किया जाता है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. हमें तो अब पता लगा कि आप की तबियत नासाज़ थी. अब कैसा महसूस कर रहे हो. पढ़कर तो यही लग रहा है कि सब कुछ चकाचक है वापस. बधाई नये अंदाज में चर्चा करने को.

    उत्तर देंहटाएं
  5. एक सवाल तो रह ही गया, अरे घबरायें नही अपनी पोस्ट के लिये सवाल नही कर रहा हूँ।

    प्रश्न : चिठ्ठाचर्चा में नये नये प्रयोग करके नये नये आयडिये से कौन लिखता है
    उत्तर : गिरिराज जोशी और कौन

    बहुत अच्छे :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. तरुण जी , छूटे हुए सवाल के जवाब में कविवर की कड़ी ? टिप्पणी में यह मुमक़िन है ?

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह धांसू चर्चा किए हैं, KBC (कौन बनेगा चर्चाकार) का इस एपीसोड में कितने जीते ये भी बता देना।

    उत्तर देंहटाएं
  8. प्रश्न : शनि,रवि की चिट्ठाचर्चा कहाँ है ? कहाँ देखें ?

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative