शुक्रवार, अक्तूबर 16, 2009

विशिंग ए मेनकाफुल एंड मंथरालेस नरक चौदसी टू यू

पहले कुछ दीपावली संदेशों की झलक पा ली जाए-

साथी चर्चाब्‍लॉग 'ब्‍लॉगआनप्रिंट' अपनी सारी सज्‍जा में दीवालीमय हो गया है, वैसे नई सूचना समीर को सम्‍मान मिलने की है। समीर को बधाई। ब्‍लॉग के अनेकानेक दीपों में से एक दीपपंक्ति-

diyas

 

अल्‍पना के चिट्ठे का हैडर-

 

Diwalibanner

पंडितजी ने एक दीया जलाया है और बल्‍लमबल्‍ले नरक फर‍क सामने रखते हुए कुछ गिनाया है-

DiwaliLight

   इस बार 17 अक्तूबर को संयुक्त तिथि होने के कारण नरक चतुर्दशी और दीपावली (अमावस्या) दोनों का एक ही दिन संयोग बन रहा है । भारतीय समयानुसार दोपहर काल 12 बजकर 27 मिनट तक नरक चतुर्दशी(रूप चतुर्दशी) रहेगी,तत्पश्चात अमावस्या तिथि आरंभ होगी जो कि अगले दिन 18 अक्तूबर दोपहर 11 बजकर 07 मिनट तक रहेगी

तो एइसन करें कि कोई नरक वाले नाराज न हों इसलिए दीवाली के पटाखे-दीप सुबह सात से ग्‍यारह के बीच जला लें :)) वैसे इस नरक चतुदर्शी या फरक तेरहवीं के सवाल को इग्‍नोर कर स्‍पैम फोलडर में न डालें इट्स अ सीरियस मैटर...नाट जस्‍ट से क्‍वैश्‍चन आफ लाइफ एंड डैथ बट अ क्‍वैश्‍चन आफ मेनका एंड मंथरा-

मालूम नहीं आज नरक चौदस है
आज जो ब्रम्ह मुहूर्त में स्नान करता है
वो सीधा स्वर्ग में जाता है
वहां परम पद को पता है
जो सूर्योदय के बाद स्नान करता है
वो सारे नरकों को भोगता है

मास्‍साब प्रवीणजी ने भी एक दीप सजाया है-

स्नेह अपना दो ना दो,[diwali001245.png]

दीप बन जलता रहूँगा|

        हर अंधेरी रात में,
        जब अकेले ही चलोगे
        तुम्हारी राह का तम
        दूर मैं करता रहूँगा|
स्नेह अपना दो ना दो,
दीप बन जलता रहूँगा|

लगभग हम चिट्ठे पर दीवाली-धनतेरस की शुभकामनाओं की टिप्‍पणी सजी हुई हैं, उदाहरध भर के लिए चंद टिप्‍पणीकारों का नाम परिगणन कर दें- विनोदजी के चिट्ठे से (किसी भी चिट्ठे से दे सकते हैं पर इससे दे रहे हैं ताकि कापी-स्‍केप की निरर्थकता का भी बोध करा सकें :)) 

महफूज अली-

गगन में फुलझड़ियाँ लहराते,
हाथ में लेकर बम बजाते,
खूब पटाखे तब छोड़े थे,
नये नये बंधन जोड़े थे,
बचपन-बचपन मिल उठता था,
पुष्प प्रेम का, खिल उठता था,

समीर

सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

योगेन्‍द्र-

थोड़े दीये और मिठाई सबकी हो
चाहे थोड़े मिलें पटाखे सबके हों
गलबहियों के साथ मिलें दिल भी प्यारे
अपने-अपने खील-बताशे सबके हों
---------शुभकामनाऒं सहित

रूपचंद्र शास्‍त्री-

दीवाली का रंग चढ़ता था,
बचपन चंचलता गढ़ता था,
अद्भुत लगता था, संसार,
आज वही मद्धिम त्योहार,
लालच,स्वार्थ भुला कर सब,
निच्‍छल प्रेम घुला कर तब,
जो पैमाना छलकाते थे,
अब वो पैमाना खाली है.

चिट्ठाकार दोस्‍तों को हमारी ओर से भी दीपावली की अमित शुभकामनाएं

Post Comment

Post Comment

23 टिप्‍पणियां:

  1. सेम टू यू।
    दीपपर्व की अशेष शुभकामनाएँ।
    -------------------------
    आइए हम पर्यावरण और ब्लॉगिंग को भी सुरक्षित बनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीपावली पर चिट्ठाचर्चा के सभी पाठकों को हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुंदर बहुत सुंदर चिट्ठा चर्चा...बधाई!!
    आप सभी को दीपावली की हार्दिक बधाई और शुभकामना।

    उत्तर देंहटाएं
  4. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ
    आओ सब मिल-जुल के दीप पर्व मनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  5. भई ये तो आप नाइन्साफी कर रहे हैं....आपने हमारी पोस्ट को चर्चा में तो शामिल कर लिया लेकिन उसका लिंक तो डाला ही नहीं !!
    ये कोई अच्छी बात नहीं हैं :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. दीपोत्सव का यह पावन पर्व आप सभी के जीवन में धन-धान्य-सुख-समृद्धि ले कर आए!

    उत्तर देंहटाएं
  7. आप सभी साथियो को ओर आप के परिवार जनो को दिपावली की शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल ’समीर’

    उत्तर देंहटाएं
  9. @ वत्‍सजी, लिंकदोष के लिए खेद है....उपचार कर दिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुंदर चिट्ठा चर्चा
    ...बधाई!!


    सुख, समृद्धि और शान्ति का आगमन हो
    जीवन प्रकाश से आलोकित हो !

    ★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
    ★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★


    *************************************
    प्रत्येक सोमवार सुबह 9.00 बजे शामिल
    होईये ठहाका एक्सप्रेस में |
    प्रत्येक बुधवार सुबह 9.00 बजे बनिए
    चैम्पियन C.M. Quiz में |
    प्रत्येक शुक्रवार सुबह 9.00 बजे पढिये
    साहित्यिक उत्कृष्ट रचनाएं
    *************************************
    क्रियेटिव मंच

    उत्तर देंहटाएं
  11. आज खुशियों से धरा को जगमगाएँ!
    दीप-उत्सव पर बहुत शुभ-कामनाएँ!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  13. @मसिजीवी जी, अभी तो दिपावली है,कोई अप्रैल फूल नहीं....ये अच्छा मजाक है,चर्चा में पोस्ट हमारी ओर लिंक अपनी ही चिट्ठा चर्चा का लगा डाला।
    भई अगर लिंक डालने का मन न हो तो कोई बात नहीं:) हम आपसे कोई शिकायत नहीं ।

    उत्तर देंहटाएं
  14. आजकी चिट्ठाचर्चा और दिन भर कई ब्लॉग पलटते हुए बस एक ही बात जेहन में आती रही, कि कितना सुखद है की सभी ब्लोगर आपस में एक वृहद् परिवार है, अपने मेल पर मैंने कितने लोगों की शुभकामनायें पायीं, उतनी तो आज तक नहीं पायी थी, कईयों ने तो कई -कई बार बधाइयाँ दीं....मै पहली बार घर से दूर दीवाली मनाऊंगा पर मुझे मेरे परिवार की कमी उतनी नहीं खलने दी मेरे नए ब्लोगर परिवार ने...हम सभी एक-दूसरे की खुशियों में, गम में शरीक होते हैं..बिलकुल भरा-पूरा परिवार..बस कोई नज़र ना लगे,टचवुड ...अभी पंकज जी ने मुझसे बात की तो लगा कि ये परिवार निरा वर्चुअल नहीं है ये रीयल भी है और खासा रीयल....इस दीवाली पंकज जी के माध्यम से आप सभी को हार्दिक शुभकामनायें....आप हम सभी ऐसे ही पारिवारिक सूत्र में बंधे रहे..बस यही आरजू रहेगी इस दीपवर्ष में......

    उत्तर देंहटाएं
  15. मतलब समझें पर्व का हम,
    तभी मनाएं ईद दिवाली,
    जीवन में ही उतर आये ये,
    ऐसे मनाएं हम ये दिवाली..
    aap sab ko deepawali ki shubhkamanayein...
    [link]http://ambarishambuj.blogspot.com/[/link]

    उत्तर देंहटाएं
  16. Wishing you and your family a very happy, prosperous, and successful Deepawali. May this diwali bring all happiness sparkles to your life.

    उत्तर देंहटाएं
  17. ----------------------------------------------------------------
    दीपावली पर्व पर आपको मेरी मंगलकामनाएं!!!
    ----------------------------------------------------------------
    स्नेह अपना दो ना दो,
    दीप बन जलता रहूँगा|
    हर अंधेरी रात में,... अधिक पढ़ें
    जब अकेले ही चलोगे
    तुम्हारी राह का तम
    दूर मैं करता रहूँगा|
    स्नेह अपना दो ना दो,
    दीप बन जलता रहूँगा|
    ---------------------------------------------------------------------------
    "प्राइमरी का मास्टर" की ओर से आपको दीपावली की हार्दिक मंगल कामनाएं !!
    ----------------------------------------------------------------------------

    उत्तर देंहटाएं
  18. इस दीपावली में प्यार के ऐसे दीए जलाए

    जिसमें सारे बैर-पूर्वाग्रह मिट जाए

    हिन्दी ब्लाग जगत इतना ऊपर जाए

    सारी दुनिया उसके लिए छोटी पड़ जाए

    चलो आज प्यार से जीने की कसम खाए

    और सारे गिले-शिकवे भूल जाए

    सभी को दीप पर्व की मीठी-मीठी बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  19. @वत्‍सजी,
    पुन: खेद है। भूल मेरी ही थी। अब ठीक हो गया है।

    उत्तर देंहटाएं
  20. दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  21. लिंकोपचार के लिए धन्यवाद....
    आपको सपरिवार दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनाऎँ!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  22. दीपावली, गोवर्धन-पूजा और भइया-दूज पर आपको ढेरों शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative