सोमवार, मार्च 26, 2007

पिघली हुई गज़ल और बीमार चाँदनी

फिर आई रुत चर्चा की

वाह मनी, माडल नाओमी
किसके उतरे कपड़े
टिंचर का उपयोग कहां है
कुछ बातें सूरज से

कहां कहां पर गईं कटारें
क्या है लिये तुम्हारे
कौन किसे देता शाबासी
खोल ह्रदय के द्वारे

हिन्दी ल्के चिट्ठे देखो
है हिन्दी का सम्मेलन
एक डायरी, किन्तु सत्य का
करता कौन विवेचन

इन्द्रधनुष में खबर
कोश में कविता के हैं आँसू
धर्म, साम्प्रदायिकता की
आध्यात्मिकता है धांसू

खेद रुका है एक महोत्सव
महाकुम्भ मुक्तक का
यहां पढ़ें, कारण क्या क्या थे
कहां कहां क्या अटका

देखें कहाँ हुए हैं नर्वस
अपने रवि रतलामी
क्या क्या मन की बात बताते
किसको करें सलामी


फ़ुरसितियाजी ने बतलाईं
थीं आयुध की बातें
बजट कटे तो क्या होता है
चित्र बोलता बातें:-


Post Comment

Post Comment

2 टिप्‍पणियां:

  1. धमाकेदार चित्र और धमाकेदार चर्चा

    अरुणिमा

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेहतरीन, फटाफट चर्चा. :)

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative