मंगलवार, मार्च 10, 2009

होलीमय कार्टूनात्मक चिटठा चर्चा

नमस्कार दोस्तो होली के शुभ अवसर पर आप सभी के लिए है.. होलिमय चर्चा.. इस चर्चा क़ी खास बात ये है क़ी इस चर्चा में हमने कल और आज तक के सारे ब्लॉग समेट लिए है.. हालाँकि इस काम में मेहनत बहुत लगी.. पर हमने सोचा क़ी होली के शुभ अवसर पर आप सभी के साथ ये अनूठी चर्चा क़ी जाए.. तो लीजिए प्रस्तुत है.. होलिमय चर्चा..

परंतु चर्चा आरंभ करने से पहले.. होली पर हमारे द्वारा क़ी गयी कुछ शरारते.. उम्मीद है आप हमे छोड़ने नही वाले॥
फोटो को बड़ा करके देखने के लिए फोटो पर क्लिक करे..

अनिल पुसदकर जी


शिव कुमार मिश्रा



लवली कुमारी





डा अनुराग आर्य .


पी डी

अनूप शुक्ल 'फुरसतिया'




पूजा



रचना
सिंह


मसिजीवी


ताऊ और भाटिया जी



रंजना भाटिया



तो दोस्तो ये थी कार्टूनात्मक चर्चा.. अब आप कहेंगे क़ी कार्टून तो मिल गये पर चर्चा नही मिली.. तो उसका भी इंतेज़ाम है.. कल और आज तक के ब्लॉग्स क़ी ताज़ा पोस्ट पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे..

तो दोस्तो ये थी आज क़ी चर्चा.. खूब होली खेलिए खूब मस्ती कीजिए.. फिर मिलेंगे.. आप सभी को होली क़ी शुभकामनाए..


Post Comment

Post Comment

32 टिप्‍पणियां:

  1. बेहतरीन कार्टून बने भई इन्क्लूडिंग एक लाईना तो छा गये...:)

    होली क़ी बधाई एवं शुभकामनाऐं..

    उत्तर देंहटाएं
  2. होली मुबारक हो कार्टूनिष्ट महाराज....:)

    उत्तर देंहटाएं
  3. होली मुबारक.. अच्छी चर्चा की..:)

    उत्तर देंहटाएं
  4. एक लाईना को एक सौ एक रुपए का ईनाम।
    कार्टून लज्जतदार! मजेदार! सात रंग में चर्चा, हो ली चर्चा।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत अच्छे! होली की बहुत बहुत बधाइयाँ!

    उत्तर देंहटाएं
  6. रंग और गुलाल का पर्व होली पर आपको मेरी तरफ से रंगीन बधाई । मस्ती से मनाइये होली पर्व

    उत्तर देंहटाएं
  7. क्या कहूं कुछ कहा नई जाए !
    बिन कहे भी रहा नई जाए !

    उड़न तश्तरी जी, अब पंछी बनो, उड़ते फिरो मस्त गगन मेंऽऽऽऽऽऽ
    आपने कैफे आने की ज़हमत उठाई, बहुत-बहुत आभार, होली बहुत-बहुत मुबारक !

    बाहर निकल कर क्या करना है सिद्धार्थ जी ! बाकी सबको भी वहीं बुला लीजिए। नीशु और सूरज खन्ना जी, आप भी थोड़ा-थोड़ा गुलाल मल लीजिए मेरी तरफ से। लेकिन नाक-कान-आंख वगैरह सभी छेद बंद करके, हां। अर्चना जी गिनीज़ बुक क्यों, हम अपनी देसी बुक बनाने वाले हैं। वैसे पता नहीं आपने क्या पूछा है और मैं पता नहीं क्या जवाब दे रहा हूं ! ####@@@&&&~~~~~!?

    BUJHO TO JANEn !?

    उत्तर देंहटाएं
  8. कुश तुम्हारी होली भी शुभ हो सारे कार्टून बढ़िया रहे , तुम्हारा अंदाज निराला हैं . खुश रहो

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुन्दर कार्टून खासकर अनुराग जी की त्रिवेणी वाला...होली की ढेरों शुभकामनायें .

    उत्तर देंहटाएं
  10. होली बधाई जी। यह मजेदार चीज है ब्लॉगिंग। अच्छे भले ब्लॉगर को कार्टूनिस्ट बना देती है और अच्छे भले कार्टूनिस्ट को ब्लॉगर!

    उत्तर देंहटाएं
  11. शानदार! क्या स्वदेशी कुटीर उद्योग वाले सहज/सरल ,सस्ते पर टिकाऊ कार्टून बनायें हैं। जियो रजा। तुम्हारी शादी-उदी हो जाये फ़िर ब्लागर की पत्नी से सवाल पूछेंगे जायेंगे धक्काड़े से!

    उत्तर देंहटाएं
  12. :) कुश कार्टून की कलम से :)
    बहुत बढ़िया ..यह बेहतरीन ढंग आपके सिवा किसी और दिमाग की उपज हो ही नहीं सकती ..जय हो कुश महाराज जी की :) होली की बहुत बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  13. सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी की मेल से प्राप्त टिप्पणी
    ______________________________________________

    आज और कल के सभी चिठ्ठों पर जाकर हमारी ओर से होली की

    हार्दिक शुभकामनाएं भी दे आइएगा। आप इतनी मेहनत जो पलक झपकाते में कर डालते हैं। हाँ ये लाइन मारने वाला काम आप होली बीत जाने के बाद भी जारी रख सकते हैं।

    शुभ होली।

    सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत सुंदर लगा ... होली की ढेरो शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुन्दर कार्टून-चर्चा । होली की शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत जोरदार जी. पर फ़ुरसतिया जी सवाल पूछने हम जायेंगे.:)
    हमने ईण्टर्व्यु का कुटीर उद्दोय्ग खोल रखा है.

    होली की सबको घणी रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  17. वाह, कुश, मजा आ गया।
    सभी को होली की शुभकामनाएँ !
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  18. होली पर नो तिलक,कुशियों ओफ़्फ़ो, खुशियों के रगो की बरसात हो आप पर्।

    उत्तर देंहटाएं
  19. शानदार!
    होली की शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  20. हा हा हा
    ज्‍योंतिषी ने हाथ देखकर बताया कि आज दमदार चर्चा देखने का योग था... अरे ये तो पूरा हो गया।

    उत्तर देंहटाएं
  21. आपको होली की शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  22. पढ़ी तो थी पर कमेन्ट पोस्ट करने का टाइम नहीं मिल पाया था...ये डॉक्टर अनुराग वाला कार्टून बड़ा अच्छा लगा, तुम कैसे इतना टाइम निकल लेते हो? हम तो सोचते रह जाते हैं. मस्त कार्टून बनाये हैं सबरंगी होली के. बधाई हो...एक दिन देर से ही सही...अपन तो बासी होली भी खेलते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  23. पूजा जी इन्‍होंने एक घड़ी
    खराब कर रखी है,
    उसी में से रोज टाइम
    निकालते हैं और फिर
    दूसरों की घड़ी हर घड़ी
    खराब करने के प्रयत्‍न में
    जाते हैं जुट
    इस‍ीलिए सफल हो जाते हैं।

    कार्टून सभी एक से घटकर एक।

    उत्तर देंहटाएं
  24. शानदार!
    होली की शुभकामनाएं.

    regards

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative