रविवार, मई 17, 2009

चिट्ठा-क्लाउड

छम्मकछल्लो कहिस    लूज़ शंटिंग   धमाचौकड़ी

---
कड़ियाँ - साभार - चिट्ठाजगत्

Post Comment

Post Comment

22 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत खूब.... कई अनदेखे चिट्ठे चर्चा के इस चित्रात्मक अन्दाज़ में पढ़ने को मिल गए...

    उत्तर देंहटाएं
  2. क्लाउडी चर्चा ! अनन्त आकाश कैसे दिखेगा ?

    उत्तर देंहटाएं
  3. चर्चा के लिये आज बस केवल एक ही शब्द.. " बेहतरीन "
    क्या यह सँयोग या कोई अतीन्द्रिय सँप्रेषण ही है कि,
    कल रात मैं इस प्रकार की प्रतीकात्मक प्रस्तुति की कल्पना कर ही रहा था ।
    और... आज सुबह ही यह चरितार्थ दिख रहा है । फिर दोहराऊँगा " बेहतरीन !"

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रस्‍तुतिकरण का बढिया अंदाज .. बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  5. आज की चिट्ठाचर्चा बिना पन्नों की वो किताब लगी, जिसमे केवल विषय-सूची भर हो. पर अंदाज़ अच्छा है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस्टाइल भाई .बोले तो !!! बाह जी बाह

    उत्तर देंहटाएं
  7. मिक्स्ड ब्लोग कटलेट!वाह मज़ा आ गया।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहूत जोरदार स्टाइल है................नया अंदाज़ पसंद आया

    उत्तर देंहटाएं
  9. यह एक अनोखा अंदाज रहा!!

    उत्तर देंहटाएं
  10. सभी चिट्ठे तो हैं, चर्चा आप कर लें:)

    उत्तर देंहटाएं
  11. अनूठी चर्चा और अनूठा अंदाज

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  12. अब तक की सबसे रंगीन और हसीन चर्चा...
    वाह !!!!!!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  14. कुछ भी हो आनंद आ गया
    अनोखा तरीका Chalo sab ko nibata diya
    Shukriya

    उत्तर देंहटाएं
  15. इसीलिए तो रवि रतलामी जी हमारे सबसे पसंदीदा चिट्ठाकारों में हैं।

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative