रविवार, अगस्त 09, 2009

तकनीकी चर्चा

दो दिन पहले ब्लॉगर, ट्विटर, फेसबुक समेत तमाम सोशल नेटवर्किंग साइटों का भट्ठा बैठ गया था. साथ ही ब्लॉगर में स्पैम क्लीयरिंग के चक्कर में कुछ ब्लॉगों को स्वचालित तरीके से गलती से हटा दिया गया था. ऐसे में अपने ब्लॉग का बैकअप समय समय पर लेकर तो रखना ही चाहिए, सुरक्षा के दूसरे उपाय भी अपनाए जाने चाहिए. बी.एस.पाबला ने अपने पोस्ट में ऐहतियातन बैकअप करने के उपाय दिए हैं. यदि आप नियमित बैकअप नहीं ले पाते हैं तो अपने स्वयं के ईमेल खाते में अपना ब्लॉग सब्सक्राइब कर लें. आपके ब्लॉग पोस्ट आपके ईमेल में नियमित आते रहेंगे जिन्हें सुरक्षित रखा जा सकता है. चिट्ठाकार में एक चर्चा का थ्रेड यह भी है – क्या ब्लॉग प्रतिबन्धित किया जा सकता है?

यहीं पर जीमेल के मेल को बैकअप करने के बारे में अविनाश वाचस्पति ने पूछा है, जिसका जवाब मसिजीवी के पोस्ट – जीमेल ऑफलाइन पर भी से मिल सकता है. यदि आप थंडरबर्ड जैसे ईमेल क्लाएंट का प्रयोग करते हैं तो आप अपने जीमेल ईमेल को अपने हार्डडिस्क पर बैकअप कर रख सकते हैं. एक तरीका ये भी है कि आप जीमेल में मेल  फारवर्ड का विकल्प चुनकर ईमेल को याहू या एओएल पर स्वचालित फारवर्ड भी कर सकते हैं. इससे एक खाते के विलोपित होने पर दूसरा बना रहेगा, सामग्री समेत.

रजनीश मंगला ने आलेख में से ईमेल पते निकालने के बारे में बढ़िया युक्ति बताई है -
किसी टेक्स्ट में से ईमेल पते निकालने के लिए किसी ऑनलाइन अनुप्रयोग की ज़रूरत बहुत देर से थी। आखिर इंटरनेट में से एक PHP सक्रिप्ट मिल गई जिसे अपने वेबसाइट में ढाल लिया। वह सफ़लतापूर्वक काम कर रही है। डिब्बे में कोई भी टेक्स्ट डाल कर बटन दबाने से खाली ईमेल पते अल्पविराम चिन्ह के साथ अलग होकर प्रकट हो जाते हैं। इन्हें सीधे किसी ईमेल प्रोग्राम में उपयोग किया जा सकता है।

 

गूगल मैप्स में हिन्दी के बारे में जानकारी देने के साथ ही हिन्दी शब्दकोश बनाने का एक स्क्रिप्ट भी रजनीश ने बनाया है. एक परियोजना सराय में भी हिन्दी शब्दकोश पर चल रही है. उम्मीद करें कि अब जल्द ही हमें एक बढ़िया वर्तनी जाँचक मिल जाएगा.

 

अंकुर गुप्ता लिनक्स गीक हैं. उन्होंने उबुन्टु लिनक्स को हिन्दीमय करने का आसान सा तरीका बताया. विवेक रस्तोगी ने बताया कि अब आपको कम्प्यूटर गेम खरीदने की जरूरत नहीं है -

“…फ़िर नेट पर सर्च किया गूगल महाराज में तो हमें एक साईट मिली गेमटॉप.कॉम जिसमें बहुत सारे गेम फ़्री डाउनलोड के लिये उपलब्ध हैं और बहुत सारे गेम्स ओनलाईन भी खेल सकते हैं, यहाँ पर गेम्स श्रेणियों में विभक्त हैं जिससे आप को जिस तरह का गेम चाहिये केवल वही मिलेंगे। हमने अभी तक कुल ५-६ गेम डाउनलोड किये हैं सब ठीक चल रहे हैं।…”

 

कुन्नू सिंह नए नए एक्पेरिमेंट करते रहते हैं. उन्होंने बताया कि -

 

अब गूगल सर्च ईंजन ज्यादा दिन तक नही चलने वाला

अब गूगल सर्च ईंजन ज्यादा दिन तक नही चलने वाला क्योंकि माईक्रोसाफ्ट लाया है एक नया सर्च ईंजन जो एक ही महीने मे खूब पापूलर हो गया|

पर, क्या सचमुच? हिन्दी सर्च में तो बिंग अभी भी बहुत पीछे है. वैसे, इस बात को कुन्नू सिंह ने अपने पोस्ट की अंतिम लाइन में स्वीकार भी किया -

गूगल को हराना ईतना आसान नही है 10 - 20 साल लग जाएंगे गूगल से टक्कर लेने मे :)

 

कम्प्यूटर पर हिन्दी में काम करने के लिए अभी भी तमाम तरह के जुगाड़ लगाने ही पड़ते हैं. आशीष खण्डेलवाल हिन्दी ब्लॉगजगत में तकनीकी समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और तमाम जुगाड़ बताते रहते हैं. ताजा ताजा उन्होंने टिप्पणी बक्से में सीधे हिन्दी टाइप करने का बढ़िया जुगाड़ बताया-

कई दिनों से कुछ साथी पूछ रहे थे कि वे यूनीकोड हिन्दी में ऑफलाइन टाइप कैसे करें। यानी नेट कनेक्शन काम नहीं करने की अवस्था में हिन्दी में कैसे लिखा जाए। या कमेंट करते वक्त सीधे ही हिन्दी में टाइप कैसे करें। प्रकाश गोविन्द जी ने इस सवाल के साथ अनुरोध किया कि इस पर एक पोस्ट ही लिख दी जाए। पूजा उपाध्याय जी से विशेष माफी चाहूंगा कि उनकी इस जिज्ञासा पर कई महीनों बाद पोस्ट लिख पा रहा हूं।… .

 

उबुन्टु लिनक्स में वीडियो चलाने की ट्रिक रतन सिंह शेखावत बता रहे हैं. तो विनय प्रजापति ब्लॉग को बैन करने के ट्रिक बता रहे हैं. राहुल प्रताप सिंह राठौड़ अपने ब्लॉग टेकटच में बढ़िया काम की ट्रिक बताते हैं. कल उन्होंने बताया -

MS-DOS या cmd से IP-Adress या Web-Address ट्रेस करें |

वैसे तो किसी भी साईट का IP Address ट्रेस करने के लिए कई सारी साइट्स मौजूद है जैसे ये वेब-साईट

लेकिन यहाँ मैं बात करूँगा कि MS-DOS या cmd.exe से कैसे किसी IP Address या किसी वेब-एड्रेस को कैसे ट्रेस करेंगें तो वैसे तो ping कमांड को भी इसी तरह के काम के लिए प्रयोग किया जाता है ,लेकिन मैं यहाँ पर tracert कमांड के बारे में बात करूँगा

बहुत सी तकनीकी बातें हो गईं? नहीं. हिन्दी में तकनीकी चिट्ठों का घोर अकाल है. आग्रह है कि आप भी अपना तकनीकी ज्ञान बांटें. जरूरी नहीं कि आपका कोई तकनीकी पृष्ठभूमि हो. जो भी आप नई चीज, नई ट्रिक, नई तकनीक सीखते हैं उन्हें आप अपने पाठकों से साझा कर सकते हैं.

Post Comment

Post Comment

16 टिप्‍पणियां:

  1. बल्ले बल्ले ढेरों नई जानकारियां एक ही जगह ! रवि जी धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  2. bahut bahut dhanyawaad saare takniki chiththon ko ek saath lane ke liye....

    उत्तर देंहटाएं
  3. हर पंद्रह दिन में एक बार ऐसी चर्चा को कम्पलसरी करना चाहिए...रवि जी को साधुवाद

    उत्तर देंहटाएं
  4. "गूगल को हराना ईतना आसान नही है "


    सही है, जब तक मैक्रोसाफ़्ट य़ाहू का अधिग्रहण न कर सके, गूगल को कोई खतरा नहीं। हम तो यही चाहेंगे कि गुगल और याहू बने रहे ताकि मुफ़्त की सेवा मिले। :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह रवि जी तकनीकी चर्चा पढ़कर मजा आ गया...

    उत्तर देंहटाएं
  6. हम अपने ब्लॉग का क्या कहें - हमारी पोस्ट नहीं, टिप्पणियां ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। उनका बैक-अप ज्यादा जरूरी है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. हमारी दुकान नहीं चलने देंगे क्या :)

    शानदार, उपयोगी चर्चा !

    उत्तर देंहटाएं
  8. संग्रहणीय पोस्ट है जी। संभाल कर रखेंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  9. तकनीकी चर्चा पढ़कर मजा आ गया.

    उत्तर देंहटाएं
  10. नितांत आवश्यक चर्चा की गई
    तकनीकी ज्ञान तो बहुत जरूरी है, मुझे तकनीकी जानकारी देने वाली पोस्ट बहुत आकर्षित करती है शायद यही कारण है की दिए गए सभी लिंक पढ़े हुए हैं :)

    वीनस केसरी

    उत्तर देंहटाएं
  11. रवि जी आप हम जैसे डपोरशंख के लिये देव्तुल्य हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  12. एक ही पोस्ट में इतनी सारी जानकारी प्राप्त हो गयी. आभार ..!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. रवि जी ढेर सारी तकनीकी जानकारियों वाली पोस्ट की एक साथ जानकारी देने के लिए आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत अच्छी तकनीकी चर्चा.. हैपी ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं
  15. उपयोगी तकनीकी चर्चा । आभार ।

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative