मंगलवार, दिसंबर 12, 2006

कवि सम्मेलन के संग चर्चा होती है चिट्ठों की

पिछले शनि को वाशिंगटन में एक हुआ था कवि सम्मेलन
हिन्दी समिति और राजधानी मंदिर का था आयोजन
टोरांटो से श्री समीर जी उसमें हिस्सा लेने पहुंचे
अपनी कुंडलियों से सबका सराबोर कर डालाथा मन

संध्या पौने सात बजे से साढ़े ग्यारह बजे रात तक
कविता की रसधार बही थी उस पल सभागार के अंदर
पढ़ पायेंगे उड़नतश्तरी पर जल्दी ही पूरा विवरण
तब तक मैं संक्षिप्त जानकारी को आया संग में लेकर

अब उसका खुमार कम करके चिट्ठों पर आ नजरें डाली
कौन समस्या सुलझाता है, कौन अभी तक बना सवाली
बुरा देखने की ख्वाहिश ले भटक रहे हैं श्री खबरिया
औ' प्रतीक जी अपने संग में लाये हैं आरती छबड़िया

फिर विदेश लेकर चलते हैं रिश्वत बिना रवि रतलामी
और प्रतीक लगे कोशिश में जैसे तैसे हँस लें सागर
भैय्ये इतनी कोशिश करते तो दस सरितायें हँस लेती
जो गंभीर रहा करता है, कब हँसता बोलो रत्नाकर ?

मानवता की कमी दिखाता है अनुभूतिकलश कविता में
पौरोष सिमट रहा बतलाता है गज़लों की चली विधा में
मलयाली चिट्ठों की लेकर आये कहानी फ़ुरसतियाजी
मोती शबनम के मिश्राजी दिखा रहे पड़ती छाया में

फिर वे लगे सुनाने सहसा कैमिस्ट्री की एक कहानी
बने मेजबां ईराकी प्रोफ़ेसर की जो की थी मेहमानी
संश्लेषण कर,विश्लेषण कर, करें आसवित सिल्डेनाफिल
इसके आगे की गाथायें छुपी रह गईं सब अनजानी

आज का चित्र:-
आज की टिप्पणी:-

उदयीमान ??? :)भाई इसका सूर्य तो कबका अस्त हो गया।थोडे दिन में भाभी के रोल में या बालाजी के धारावाहिक में दिखने लगे तो अचरज मत करना
By Pankaj Bengani, at 8:24 PM, December 11, 2006

श्री गणेश की प्रतिमा के आगे गणेश जी दीप जलाते
और कुंडली के संग संग में आये अपनी गज़लें गाते
ढले सूर्य को कहें भोर का ,ये तो अच्छी बात नहीं है
पंकज जी प्रतीक को अपनी यह अनमोल राय बतलाते









Post Comment

Post Comment

1 टिप्पणी:

  1. "श्री गणेश की प्रतिमा के आगे गणेश जी दीप जलाते
    और कुंडली के संग संग में आये अपनी गज़लें गाते"


    :) यह जो गणेश जी की प्रतिमा के आगे गणेश जी दीप जला रहे हैं, वो मै हूँ और काया देख कर राकेश भाई कन्फ्यूजन में उन्हें भी गणेश जी ही समझ बैठे. :)

    उत्तर देंहटाएं

चिट्ठा चर्चा हिन्दी चिट्ठामंडल का अपना मंच है। कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय इसका मान रखें। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी।

नोट- चर्चा में अक्सर स्पैम टिप्पणियों की अधिकता से मोडरेशन लगाया जा सकता है और टिपण्णी प्रकशित होने में विलम्ब भी हो सकता है।

Google Analytics Alternative